Computer Ki Karyapranali – कंप्यूटर की कार्यप्रणाली

कंप्यूटर की कार्यप्रणाली, कंप्यूटर कैसे कार्य करता है, Computer Ki Karyapranali, कंप्यूटर के मुख्य भाग

नमस्कार दोस्तो हमारी वेबसाइट पर आपका एक दफा फिर से स्वागत है आज के इस लेख में हम Computer Ki Karyapranali ( कंप्यूटर की कार्यप्रणाली)के बारे में जानने वाले है साथ में इससे संबंधित सभी जानकारी जानेंगे।

दोस्तो एक कंप्यूटर सिस्टम सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के मिलाप से कार्य करता है, और इनके भी अनेक भाग होते हैं और वे सभी अपने सुनिश्चित कार्य करते हैं जैसे Central Processing, Unit मॉनिटर माउस कीबोर्ड इत्यादि।

कंप्यूटर की कार्यप्रणाली, कंप्यूटर कैसे कार्य करता है, Computer Ki Karyapranali, कंप्यूटर के मुख्य भाग

जब भी हमें कंप्यूटर से किसी भी चीज की जानकारी प्राप्त करनी होती है व हम जैसे ही कंप्यूटर को आदेश देते हैं या हमें कंप्यूटर से कोई भी कार्य करवाना होता है तो आदेश मिलने के पश्चात कंप्यूटर के सभी भाग अपने सुनिश्चित क्रम से कार्य करने लग जाते हैं।

Computer fundamental को बेहतर तरीके से समझने के लिए, इसकी कार्यप्रणाली को समझना अति आवश्यक है तो आइए हम विस्तार से जानते हैं कंप्यूटर की कार्य प्रणाली ( Computer ki Karyapranali) क्या है।

हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर ( Hardware and Software)

 

दोस्तो कंप्यूटर के मूल तत्व सॉफ्टवेयर एवं हार्डवेयर है अगर हार्डवेयर कंप्यूटर का इंजन है तो सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के ईंधन का कार्य करता है क्योंकि सॉफ्टवेयर के आदेश अनुसार ही कंप्यूटर के हार्डवेयर अंग अपने कार्य करते हैं।

इसलिए कंप्यूटर की कार्यप्रणाली को जानने से पहले आपको कंप्यूटर के मूल तत्व हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बारे में सामान्य जानकारी जरूर होनी चाहिए

हार्डवेयर ( Hardware ) –

 कंप्यूटर के कंपोनेंट्स और पार्ट्स को हार्डवेयर कहा जाता है कंप्यूटर की वह सब चीजें जीने हम जो भी सकते हैं और देख भी सकते हैं हार्डवेयर के अंतर्गत आती है उदाहरण  के लिए मॉनिटर, कीबोर्ड, माउस, प्रिंटर ,मेमोरी डिवाइस ,हार्ड डिस्क, प्रोसेसर आदि ।

सॉफ्टवेयर ( Software ) –

हार्डवेअर कोई भी कार्य स्वयं नही  कर सकता हार्डवेयर को कोई भी कार्य करने के लिए निर्देष की आवश्यकता होती है सॉफ्टवेयर की मदद से हार्डवेयर को निर्देश दिया जाता है तब जाकर हार्डवेअर अपना कार्य करता है सॉफ्टवेयर एक प्रोग्राम है जो कंप्यूटर के कार्य को नियंत्रित करता है जिसे हम देख या छू नहीं सकते।

यह भी पढ़े

कंप्यूटर की कार्य प्रणाली ( Computer Ki Karyapranali)

कंप्यूटर की कार्य प्रणाली को तकनीक रुप से 5 भागों में बांटा गया है। 

  •   इनपुट
  •   प्रोसेसिंग
  •   आउटपुट
  •   कंट्रोल
  •    स्टोरेज

आइए इनके बारे में विस्तार से जाने

इनपुट ( input)

दोस्तो इनपुट डिवाइस एक हार्डवेयर उपकरण होता है, जिसकी मदद से हम कोई भी डाटा या कमांड कंप्यूटर को भेज सकते है, जैसे की-बोर्ड या माउस कीबोर्ड का प्रयोग करके हम किसी भी सूचना को कंप्यूटर के अंदर डालते है, वही माउस का प्रयोग करके कंप्यूटर को कमांड देते है।

दोस्तों सरल शब्दों में हम आपको बताएं तो इनपुट एक बाहरी डिवाइस होता है जिसके द्वारा हम कंप्यूटर को कोई सूचना या कमांड बाहर से प्रदान करते हैं एवं कंप्यूटर को ऑपरेट करते है उदाहरण के लिए हम कीबोर्ड और माउस को ले सकते हैं दोनों बाहरी उपकरण हैं परंतु उनका प्रयोग करके हम कंप्यूटर को कमांड देते हैं।

प्रोसेसिंग (Processing)

इन पुट द्वारा प्राप्त डाटा को प्रोसेसर द्वारा गणना करके सूचना में परिवर्तित किया जाता है, इस विधि को प्रोसेसिंग कहा जाता है, यह कंप्यूटर की महत्वपूर्ण कार्य प्रणाली है, 

आउटपुट (output)

दोस्तो आउटपुट डिवाइस एक हार्डवेयर उपकरण होता है, इसकी मदद से हम कोई भी डाटा या कमांड कंप्यूटर से बाहर भेजते है, दोस्तों आप आउटपुट नाम से ही समझ सकते हैं आउट का मतलब होता है बाहर जब भी हम कंप्यूटर से कोई भी डाटा या कमांड बाहर भेजते हैं तो यहां सब आउटपुट की मदद से होता है।

जैसे प्रिंटर मशीन का प्रयोग करके हम कंप्यूटर से कोई भी डॉक्यूमेंट या फाइल बाहर निकालते हैं तो यहां आउटपुट है, कंप्यूटर के बहुत सारे आउटपुट होते हैं दोस्तों कंप्यूटर से जब भी कोई भी डाटा या कमांड बाहर निकलेगा तो यह सब आउटपुट के द्वारा ही होगा।

स्टोरेज (storage)

कंप्यूटर के सभी डाटा को मेमोरी यानि स्टोरेज स्टोर में  किया जाता है स्टोर डाटा को कभी भी और किसी भी वक्त आवश्यकता के अनुसार उपयोग किया जा सकता है। डाटा स्टोर करने के लिए कंप्यूटर में स्टोरेज डिवाइस लगा होता है जिसे हार्ड डिस्क और एसएसडी कहा जाता है।

कंट्रोल(control)

कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयरके बीच में तालमेल स्थापित  करना कंट्रोल कहलाता है विभिन्न प्रक्रियाओं को नियंत्रित करना कंट्रोल होता है

यह भी पढ़े

कंप्यूटर कैसे कार्य करता है (how does the computer work)

कंप्यूटर सिस्टम को इनपुट के द्वारा संकेत दिया जाता है और आउटपुट के माध्यम से यहां हमें सही परिणाम देता है एक कंप्यूटर के अंदर बहुत सारे हार्डवेयर कंपोनेंट लगे हुए होते हैं जिन्हें सॉफ्टवेयर की मदद से कंट्रोल किया जाता है

सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर की मदद से ही कंप्यूटर कार्य कर पाता है इसके अलावा इनपुट, स्टोरेज ,प्रोसेसिंग, कंट्रोल ,आउटपुट कंप्यूटर के महत्वपूर्ण भाग है जिनके द्वारा कंप्यूटर कार्य करता है।

कंप्यूटर सिस्टम के मुख्य भाग (main hardware parts of computer)

कंप्यूटर सिस्टम के मुख्य भारत के बारे में नीचे हमने आपको स्टेप बाय स्टेप बताएं उन्हें पढ़ने के बाद आप आसानी से जान जाएंगे कि कंप्यूटर के मुख्य भाग कौन-कौन से हैं।

मदरबोर्ड (motherbord)

मदर बोर्ड एक प्रिंटेड सर्किट बोर्ड है जिससे कंप्यूटर के सारे अंग जुड़े हुए होते हैं मदरबोर्ड में ही रेम, प्रोसेसर स्टोरेज डिवाइसेज जैसे हार्डवेयर अंगो को इंस्टाल किया जाता है, सन 1981 में IBM Planner bearboard पहला मदरबोर्ड था।

जिसे कंप्यूटर सिस्टम में पहली बार इस्तेमाल किया गया था, 1984 में IBM advance टेक्नोलॉजी में आया जिससे आज के एडवांस कंप्यूटर का जन्म हुआ,

रैम (rem)

रैम का पूरा नाम रेंडम एक्सेस मेमोरी है कंप्यूटर को जिस भी फाइल की जरूरत पड़ती है प्रेम उस फाइल को स्टोरेज डिवाइस से उठाकर प्रोसेसर तक ट्रांसफर करता है

हार्डडिस्क( harddisk)

हार्ड डिस्क एक स्टोरेज डिवाइस होता है, जिसे HDD या डाटा भंडारण यंत्र भी कहते है, हार्ड डिस्क एक प्रकार का मैगनेटिक डिस्क होता है, जिसका उपयोग डाटा को स्टोर करने के लिए किया जाता है।

हार्ड डिस्क कंप्यूटर में किसी भी प्रकार के डाटा को लंबे समय तक स्टोर करके रख सकती हैं अर्थात कंप्यूटर पावर ऑफ हो जाने के बाद भी डाटा सुरक्षित रखता है हार्ड डिस्क को सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस के नाम से भी जाना जाता है यहां कंप्यूटर केस के अंदर मौजूद रहती है।

और डाटा केबल का उपयोग करके कंप्यूटर मदरबोर्ड से जुड़ी रहती है डिजिटल जानकारी को संग्रहित और पूर्ण प्राप्त करने के लिए हार्डडिस्क चुंबकीय भंडारण का उपयोग करती है इसीलिए इसे इलेक्ट्रो मैकेनिकल डाटा स्टोरेज डिवाइस भी कहा जाता है।

हार्ड डिस्क में डाटा को स्टोर करने के लिए एक या एक से अधिक गोल घूमने वाली डिस्क लगी होती है, प्रत्येक लेटर मशीन में एक बहुत पतली पट्टी होती है जो चुंबकीय सामग्री के इस्तेमाल से बनाई जाती है इन्फ्लेटर्स में कई सारे ट्रैक और सेक्टर मौजूद रहते हैं।

प्रोसेसर (processor )

प्रोसेसर सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को प्रोसेस करता है इसे कंप्यूटर का दिमाग कहते हैं साथ ही इसे सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट भी कहा जाता है यहां कंप्यूटर का महत्वपूर्ण अंग है

एसएमपीएस ( smps)

इसका पूरा नाम स्विच मोड पावर सप्लाई है यहां कंप्यूटर के हार्डवेयर अंगो को पावर देता है साथ ही यहां एसी करंट को डीसी में कन्वर्ट करता है।

Computer ki Karyapranali से संबंधित FAQs 

 

कंप्यूटर के महत्वपूर्ण भाग कौन-कौन से हैं?

कम्प्यूटर सिस्टम के मुख्य भाग मदरबोर्ड, प्रोसेसर, रैम,स्टोरेज डिवाइस ,मॉनिटर आदि।

इनपुट डिवाइस के नाम?

कंप्यूटर के प्रमुख इनपुट उपकरण के नाम है कीबोर्ड ,माउस , स्कैनर आदि।

आउटपुट डिवाइस के नाम?

कंप्यूटर सिस्टम में आउटपुट उपकरणों के नाम है प्रिंटर ,स्पीकर, मॉनिटर, हेडफोन आदि।

निस्कर्ष

आशा करते दोस्तों आपको हमारे द्वारा बताया गया यह लेख पसंद आया होगा हमने आपको हमारे इस लेख के जरिए Computer Ki Karyapranli ( कंप्यूटर की कार्यप्रणाली) के बारे में संपूर्ण जानकारी बताइ है एवं साथ में बताया है कि  
कंप्यूटर सिस्टम के मुख्य भाग, कंप्यूटर कैसे कार्य करता है, Computer Ki Karyapranli आदि के बारे में बताया है।
 
अगर आपके मन में हमारे इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से जरूर बताएं एवं आपको हमारे द्वारा बताई गई है जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों तक जरूर शेयर करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top